27.6 C
New York
Monday, July 15, 2024
spot_img

FAME 3 expected to be introduced to boost EV sales, बजट न्यूज


ऐप पर पढ़ें

मोदी सरकार 1 फरवरी को आम बजट पेश करेगी। मौजूदा कार्यकाल में ये सरकार का आखिरी बजट भी होगा। ऐसे में उम्मीद है कि ये बजट कई सेक्टर में खुशियां का पिटारा खोल सकता है। इनमें ईवी सेक्टर भी शामिल है। इस बात की उम्मीद जताई जा रही है कि ईवी सेक्टर को बढ़ावा देने और सेल्स को बूस्ट करने के लिए सरकरा FAME III सब्सिडी योजना का एलान कर सकी हैं। FAME या फास्टर एडॉप्शन एंड मैन्युफैक्चरिंग ऑफ इलेक्ट्रिक व्हीकल्स इन इंडिया एक कार्यक्रम है जिसके तहत सरकार भारत में इलेक्ट्रिक व्हीकल बनाने के लिए ऑटोमोबाइल मैन्युफैक्चरर्स को सब्सिडी देती करती है।

FAME II सब्सिडी मार्च 2024 में खत्म हो रही है। इलेक्ट्रिक व्हीकल मैन्युफैक्चरर्स उम्मीद कर रहे हैं कि इलेक्ट्रिक व्हीकल की कीमतों को कंट्रोल में रखने के लिए FAME III को लॉन्च किया जाएगा। वर्तमान में मैन्युफैक्चरर्स के बीच सब्सिडी की एविबिलिटी को लेकर चिंता है जिसके बिना ईवी की कीमतें काफी ज्यादा हो जाएंगी। उन्होंने कहना है कि FAME II को 2019 में 5 सालों के दौरान 10,000 करोड़ रुपए के बजट के साथ पेश किया गया था। अब तक केंद्रीय बजट में FAME III के लिए आवंटित राशि तय नहीं हुई है।

शोरूम जाकर फटाफट उठा लो ये SUV, कंपनी दे रही पूरे ₹87000 का डिस्काउंट; कीमत सिर्फ 6 लाख रुपए

FAME III सब्सिडी इलेक्ट्रिक व्हीकल की कीमत को उस स्तर तक बढ़ने से रोकने में मदद करेगी, जिससे ग्राहकों के लिए उन्हें खरीदना मुश्किल ना हो जाए। उदाहरण के लिए बैटरियों की लागत उन हाई फैक्टर्स में से एक है जो किसी इलेक्ट्रिक वाहन की कुल कीमत में इजाफा करती है। उम्मीद है कि FAME III के लिए दिशानिर्देश FAME II के समान ही होंगे। इसलिए सरकार OEMs को बड़े पैमाने पर स्थानीय निर्माताओं से कम्पोनेंट प्राप्त करने और भारत में ईवी बनाने के लिए प्रेरित करना जारी रखेगी।

8 लाख रुपए से कम में मिल जाएंगी ये 8 SUVs, इन 4 मॉडल की कीमत तो बस 6 लाख; सेफ्टी रेटिंग भी दमदार

FAME III का लॉन्च EV मार्केट में मौजूद लोगों के लिए अच्छी खबर होनी चाहिए, क्योंकि इस साल कई इलेक्ट्रिक दोपहिया वाहन बिक्री पर आने की उम्मीद है, जिनमें एथर रिज्टा और अपडेटेड मैटर ऐरा शामिल हैं। हालांकि, इसी बीते साल सरकार ने इलेक्ट्रिक टू-व्हीलर पर मिलने वाली सब्सिडी को प्रति किलोवाट घटा दिया था। जिसके चलते इन्हें खरीदना महंगा हो गया था।



Source link

Related Articles

Stay Connected

0FansLike
3,912FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -spot_imgspot_imgspot_img

Today News

Popular News